प्रजा संग्राम पदयात्रा: ‘चलो तुक्कुगुड़ा’ सभा में दहाड़ेंगे अमित शाह, ऐसी की गई हैं तैयारियां

हैदराबाद: तेलंगाना भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष बंडी संजय की दूसरे चरण की प्रजा संग्राम पदयात्रा अंतिम चरण में पहुंच गई है। पदयात्रा के समापन के संदर्भ में शनिवार शाम को ‘चलो तुक्कुगुड़ा’ सभा का आयोजन किया गया है। इस सभा के लिए व्यापक तैयारियां की जा चुकी है। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह दोपहर में बैठक में भाग लेने के लिए पहुंच रहे हैं। बीजेपी नेता तेलंगाना में पार्टी के भविष्य और आगामी चुनावों के उद्देश्य के लिए इस सभा को महत्वपूर्ण माना जा रहा है।

तुक्कुगुड़ा ओआरआर एग्जिट-14 के पास होने वाली सभा के लिए मुख्य मंच बनाया गया है। जिलों और विधानसभा क्षेत्रों द्वारा लोगों को एकजुट करने का पार्टी नेतृत्व ने पहले ही लक्ष्य रखा है। कुल 40 एकड़ में 5 लाख से अधिक लोगों के साथ सभा की व्यवस्था की गई है. इसी क्रम में आगामी विधानसभा चुनाव में टिकट की आस लगाये बैठे नेता और जीएचएमसी पार्षदों ने भारी भीड़ जुटाने की व्यवस्था की है।

तेलंगाना में लोकसभा चुनाव के चार सीटें जीतने के बाद से बीजेपी का केंद्रीय नेतृत्व तेलंगाना पर फोकस कर रहा है। पार्टी को मजबूत करने के लिए शीर्ष नेता अमित शाह जितनी बार संभव हो तेलंगाना के दौरे पर आ रहे हैं। जीएचएमसी के चुनाव प्रचार के दौरान भी प्रचार करने के लिए हैदराबाद आये थे। उसके बाद 17 सितंबर को बंडी संजय की प्रजा संग्राम पदयात्रा की पहले चरण पदयात्रा समापन के निर्मल सभा में भाग लिया था। 8 महीने की अवधि में अमित शाह की यह दूसरा दौरा है।

मंच पर करीब 150 नेताओं को बैठाने की व्यवस्था की गई है। अमित शाह शनिवार शाम करीब 6.30 बजे सभा परिसर में पहुंचें। बीजेपी के नेता तरुणचुग, किशन रेड्डी, बंडी संजय और अन्य नेताओं के भाषण के बाद अमित शाह आखिर में सभा को संबोधित करेंगे। बंडी संजय के साथ पदयात्रा में शामिल कार्यकर्ताओं के लिए वीआईपी गैलरी के बीच में ‘प्रजा संग्राम यात्री’ गैलरी बनाई गई है।

तेलंगाना में पार्टी को मजबूत करने और क्षेत्र स्तर पर लोगों की समस्याओं को जानने के लिए बंडी संजय प्रजा संग्राम पदयात्रा 14 अप्रैल को लमपुर के जोगुलम्बा माता की मंदिर से शुरू हुई थी। दूसरे चरण की पदयात्रा गद्वाला, वनपर्ती, नारायणपेट, महबूबनगर और रंगारेड्डी जिलों के अलमपुर, गद्वाल, मुक्तल, नारायणपेट, देवरकद्र, महबूबनगर, जडचर्ला, शादनगर और महेश्वरम निर्वाचन क्षेत्र में चली। बंडी संजय ने इस पदयात्रा में 383 किमी दूरी तक चले हैं। औसतन 12.3 किलोमीटर हर दिन पदयात्रा की है। इस मौके पर संजय को 18 हजार आवेदन मिले हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Recent Posts

Recent Comments

Archives

Categories

Meta

'तेलंगाना समाचार' में आपके विज्ञापन के लिए संपर्क करें

X