BRAPU: ‘सूचना युग में पुस्तकालय सूचना विज्ञान अनुसंधान संरचनाओं को बदलना’ विषय पर संगोष्ठी

हैदराबाद : डॉ बीआर अंबेडकर ओपन यूनिवर्सिटी (BRAPU) के पुस्तकालय सूचना विज्ञान विभाग के तत्वावधान में दो दिवसीय राष्ट्रीय सम्मेलन का आयोजन किया। कार्यक्रम में इंदिरा गांधी नेशनल ओपन यूनिवर्सिटी नई दिल्ली की प्रो वाइस चांसलर प्रो उमा कांजीलाल मुख्य वक्ता के रूप में भाग लिया। उन्होंने ‘सूचना युग में पुस्तकालय सूचना विज्ञान अनुसंधान संरचनाओं को बदलना’ (Changing Contours of Reasearch In LIS In the Information Age) विषय पर अपने विचार व्यक्त किये।

उमा कांजीलाल ने कहा कि बदलती परिस्थितियों के अनुरूप अनुसंधान के तरीके में बदलाव आर रहे हैं। शोधकर्ताओं के लिए विश्वविद्यालय पुस्तकालय में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रसिद्ध शोध पत्र उपलब्ध कराये। साथ ही छात्रों को ई-जर्नल और ई-डेटाबेस के उपयोग के बारे में जागरूक करने के लिए आवश्यक जानकारी की आवश्यकता है।

इस कार्यक्रम में विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो के सीताराम राव मुख्य अतिथि के रूप में भाग लिया। कुलपति ने कहा कि ओपन यूनिवर्सिटी बीएलआईएससी के पहले बैच में केवल 50 छात्र शामिल थे। इस समय 3,000 छात्र बीएलआईएससी और एमएलआईएससी में पढ़ रहे हैं।

ओपन डिस्टेंस के माध्यम से पुस्तकालय इस समय सूचना विज्ञान में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं। पुस्तकालय में केवल किताबें ही नहीं, बल्कि सामाजिक, आर्थिक और अनुसंधान उद्देश्यों के लिए चर्चा का केंद्र भी बन गये हैं। उन्होंने बताया कि विश्वविद्यालय पुस्तकालय शोधकर्ताओं के लिए सूचना केंद्र बन रहे हैं।

विश्वविद्यालय के एकाडेमिक निदेशक प्रो सुधा रानी ने अध्यक्षता की। इस अवसर पर प्रो घंटा चक्रपाणि डीन सामाजिक विज्ञान विभाग, रजिस्ट्रार डॉ लक्ष्मा रेड्डी और अन्य ने भी अपने विचार व्यक्त किये। सेमिनार की निदेशिका डॉ जी सरोजा ने संगोष्ठी की आवश्यकता और मुख्य अतिथि का परिचय दिया। इसके बाद शोध पत्रों की स्मारिका का विमोचन किया गया। एकाडेमिक सलाहकार किरण कुमार ने धन्यवाद ज्ञापन दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

'तेलंगाना समाचार' में आपके विज्ञापन के लिए संपर्क करें

X