Sammakka Saralamma Medaram Jatara: सम्मक्का का शानदार आगमन, भव्य स्वागत, श्रद्धालुओं से खचाखच

हैदराबाद : तेलंगाना कुंभ मेला के मेडारम जातरा का गुरुवार रात को मुख्य अध्याय देखने को मिला। बुधवार को सारलम्मा सिंहासन पर पहुंच गई थी। गुरुवार को चिलकलुगुट्टा से सम्मक्का गद्दे पर आई। पारंपरिक तरीके से मंदिर के पुजारियों ने सम्मक्का को हल्दी और कुंकुम रूप में लेकर आये।

मुलुगु जिले के एसपी संग्राम सिंह जी पाटिल ने हवाई फायरिंग कर मां के आगमन का संकेत दिया। सरकार की ओर से मंत्री एर्राबेल्ली दयाकर राव, धर्मस्व और न्याय मंत्री अल्लोल इंद्रकरण रेड्डी ने सम्मक्का का स्वागत किया।

शोभायात्रा में लाखों भक्तों ने सम्मक्का को जय-जय नारों के साथ स्वागत किया। सम्मक्का के आगमन पर श्रद्धालू पुजारियों की पांव पड़ते देखे गये। पूजारियों के पांव पड़े तो पुण्य मिलने की धारना प्रचलित है। इस अवसर पर पुलिस ने भारी बंदोबस्त किया।

मेडारम के आसपास लगभग 50 किमी जंगल भक्तिमय हो गया। मेडारम परिसर गुलजार है। दोनों तेलुगु राज्यों के साथ-साथ देश के विभिन्न राज्यों से लाखों श्रद्धालु मेडारम जातरा देखने पहुंचे। अधिकारियों का अनुमान है कि इस बार लगभग 1.25 करोड़ भक्त मेडारम आएंगे।

18 फरवरी को सम्मक्का, सारलम्मा, पगिडिद्दराजू, गोविंदराजू और जम्पन्ना सिंहासन पर भक्तों को दर्शन देने वाले हैं। इस दौरान लाखों भक्त मन्नतें अर्पित करेंगे। मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव आज परिवार के साथ सम्मक्का-सारलम्मा के दर्शन करने आएंगे। इस महीने की 19 तारीख को जंगल में देवताओं के प्रवेश के साथ मेला समाप्त हो जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Recent Posts

Recent Comments

Archives

Categories

Meta

'तेलंगाना समाचार' में आपके विज्ञापन के लिए संपर्क करें

X