CM KCR ने रेबल स्टार कृष्णम राजू के निधन पर जताया शोक, बोले- “दर्शकों का जीत लिया दिल”

हैदराबाद: मुख्यमंत्री केसीआर ने रेबल स्टार कृष्णम राजू के निधन पर गहरा शोक जताया है। केसीआर ने शोक संदेश में कहा है कि 50 साल के फिल्मी जीवन में उन्होंने अपनी अनूठी अभिनय शैली से फिल्म देखने वालों का दिल जीत लिया। उनका निधन तेलुगु फिल्म उद्योग के लिए एक बड़ी क्षति है।

सीएम केसीआर ने कहा कि लोकसभा सदस्य और केंद्रीय मंत्री के रूप में राजनीतिक शासन के जरिए देश की जनता की सेवा करने वाले कृष्णम राजू का निधन दुखद है। उन्होंने उनकी आत्मा की शांति की प्रार्थना की। कृष्णम राजू के परिवार के सदस्यों के प्रति अपनी गहरी संवेदना व्यक्त की।

रेवंती रेड्डी ने शोक जताया

टीपीसीसी अध्यक्ष रेवंत रेड्डी ने भी कृष्णम राजू के निधन पर शोख जताया है। उन्होंने शोक संदेश में कहा कि लोकप्रिय अभिनेता कृष्णम राजू के नहीं रहने की खबर चौंकाने वाली है। उनका निधन सिनेमा जगत के लिए अपूरणीय क्षति है। उनके परिवार के सदस्यों के प्रति मेरी गहरी संवेदना। मैं ईश्वर से उनकी आत्मा को शांति देने की प्रार्थना करता हूं।

आपको बता दें कि कृष्णम राजू का रविवार तड़के 3.25 बजे हैदराबाद में निधन हो गया। वह 83 साल के थे। उनके पीछे पत्नी और तीन बेटियां हैं। कृष्णम राजू ने केंद्रीय मंत्री के रूप में काम किया।

20 जनवरी 1940 को पश्चिमी गोदावरी जिले के मोगलतुर में जन्म हुआ। 187 फिल्मों में अभिनय किया। 1966 में फिल्म में प्रवेश किया। उनकी पहली फिल्म ‘चिलका गोरिंका’ तेलुगु फिल्म है। इस फिल्म में उन्होंने अभिनेत्री की भूमिका निभाई। इंडस्ट्री में रेबल स्टार के तौर पर धूम मचाने वाले कृष्णम राजू का पूरा नाम उप्पलपाटी वेंकट कृष्णम राजू है।

वह पिछले कुछ समय से बीमार चल रहे थे और उनका इलाज एआईजी अस्पताल में चल रहा था। रविवार को उनका स्वास्थ्य बिगड़ गया और उनका निधन हो गया। परिजनों ने बताया कि अंतिम संस्कार सोमवार को हैदराबाद में किया जाएगा। पान इंडिया के रूप प्रसिद्ध अभिनेता प्रभास कृष्णम राजू के बड़े पिता है। कृष्णा राजू के निधन की खबर से टॉलीवुड को सदमा लगा है।

कृष्णम राजू को अमरदीपम, धर्मात्मुडु, बोब्बिली ब्राह्मन्ना और तांड्रा पापारायुडु जैसी फिल्मों में उनके प्रदर्शन के लिए फिल्मफेयर पुरस्कार मिला। 2006 में फिल्मफेयर लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड हासिल हुआ। साथ ही, अमरदीपम और मनवुरी पांडवुलु की फिल्मों को राष्ट्रपति पुरस्कार मिला। उनकी आखिरी फिल्म ‘राधे श्याम’ थी।

कृष्णम राजू ने राजनीति में भी अपनी एक अलग पहचान बनाई। वाजपेयी शासन के दौरान केंद्रीय मंत्री के रूप में काम किया। बाद में प्रजा राज्य पार्टी में शामिल हो गये। हालांकि वे फिलहाल राजनीति में सक्रिय नहीं हैं। लेकिन राजनीतिक नेताओं से उनके अच्छे संबंध हैं। वह मूवी आर्टिस्ट एसोसिएशन में एक प्रमुख व्यक्ति रह चुके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Recent Posts

Recent Comments

Archives

Categories

Meta

'तेलंगाना समाचार' में आपके विज्ञापन के लिए संपर्क करें

X