पूछने से पहले समर्थन दिये, Thank you Jagan ji: द्रौपदी मुर्मू

हैदराबाद: एनडीए की राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू आंध्र प्रदेश पहुंचीं। मुर्मू मंगलवार को विशेष विमान से गन्नावरम पहुंचीं। वहां से वह ताडेपल्ली में सीएम के आवास पर गईं। इस मौके पर सीएम जगन ने द्रौपदी मुर्मू का गर्मजोशी से स्वागत किया और उनका सम्मान किया। बाद में उन्होंने मंगलगिरी सीके सम्मेलन में वाईएसआरसीपी विधायकों और सांसदों से मुलाकात की। इस दौरे पर द्रौपदी मुर्मू के साथ तेलंगाना भाजपा नेता और केंद्रीय मंत्री किशन रेड्डी भी मौजूद थे।

वाईएसआरसीपी विधायकों और सांसदों को संबोधित करते हुए द्रौपदी मुर्मू ने तेलुगु में अपना भाषण शुरू करते हुए कहा, “आंध्र प्रदेश के लोगों को मेरा अभिवादन”। मुर्मू ने अपने संबोधन में नन्नय्या, तिक्कन्ना, पोतना और तेनाली जैसे तेलुगु कवियों को याद किया। उन्होंने अल्लूरी सीतारामराज और एनटीआर के नामों का भी अपने भाषण में उल्लेख किया।

सीएम वाईएस जगन को धन्यवाद दिया

उन्होंने कहा कि वह ओडिशा के सुदूर इलाके से आई हैं। वह एक आदिवासी महिला हैं और एनडीए के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के रूप में चुनाव लड़ रही हैं। मुर्मू ने कहा कि पूछने से पहले ही सीएम वाईएस जगन ने उनकी उम्मीदवारी का समर्थन किया। इसके लिए मैं जगन मोहन रेड्डी को धन्यवाद देती हूं।

पहली आदिवासी महिला राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार

इससे पहले सीएम जगन ने कहा कि द्रौपदी मुर्मू देश के इतिहास में पहली आदिवासी महिला राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार थीं। जगन ने कहा कि उनकी पार्टी के रुख से सभी वाकिफ हैं। सामाजिक न्याय करके दिखाने वाली पहली राज्य सरकार है। द्रौपदी मुर्मू राष्ट्रपति चुने जाने की जरूरत है। जगन ने विधायकों और सांसदों से पार्टी के फैसले को समर्थन करने का सुझाव दिया।

18 जुलाई को राष्ट्रपति चुनाव

जगन ने कहा कि राष्ट्रपति चुनाव 18 जुलाई को होगा। यह पार्टी के सचेतकों की जिम्मेदारी है कि कोई भी विधायक और सांसद वोट न छूट पाये। चूंकि छोटी-छोटी गलतियों के कारण वोट अमान्य होने का खतरा होता है। जगन ने सुझाव दिया कि वे 18 तारीख की सुबह मॉक पोलिंग में भाग लें और फिर मतदान करने जाएं। सीएम जगन ने आदेश दिया कि सभी मंत्री यह भी सुनिश्चित करें कि उनके जिले के सभी विधायक वोट दें। जगन ने पार्टी नेताओं को सलाह दी कि वे सावधान रहें कि उनकी तरफ से कोई गलती न हो।

मंत्री किशन रेड्डी ने कहा…

मंत्री किशन रेड्डी ने कहा कि एनडीए ने इससे पहले सत्ता में थी तब अब्दुल कलाम को राष्ट्रपति बनने का मौका दिया था। उन्होंने बताया कि ओडिशा के मयूरभंज जिले के मूल निवासी मुर्मू पहले एक सरकारी नौकरी की। बाद में अरबिंदो आश्रम में काम किया। ओडिशा से विधायक जीती और मंत्री के रूप में काम किया। मुर्मू बीजेपी में कई जिम्मेदारियां निभाई हैं और झारखंड के राज्यपाल के रूप में भी काम किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

'तेलंगाना समाचार' में आपके विज्ञापन के लिए संपर्क करें

X