RGV ने थर्ड वेव टिप्पणी पर उठाये सवाल, बोले- डॉ मल्लिक गलत हैं तो KCR और जगन के साथ क्या किया जाये?

हैदराबाद : कोरोना वायरस की तीसरी लहर को लेकर जाने-माने केमिकल इंजीनियर डॉ परुचुरी मल्लिक की टिप्पणी को लेकर खलबली मच गई है। मलिक ने हाल ही में एक टीवी चैनल पर बहस के दौरान कहा था कि थर्ड वेव भायनक होगा। इसी क्रम में कुछ दिन पहले निर्देशक राम गोपाल वर्मा ने उनका सीधा इंटरव्यू किया। दूसरी ओर तेलंगाना के सार्वजनिक स्वास्थ्य विभाग के निदेशक श्रीनिवास राव ने परुचुरी मल्लिक की टिप्पणी की कड़ी निंदा की और कहा कि मल्लिक की टिप्पणी असत्य है और लोगों में डर पैदा करने वाला है।

साथ ही मलिक के खिलाफ सुल्तान बाजार थाने में मामला दर्ज किया। निदेशक ने कहा कि मामला महामारी रोग अधिनियम (संक्रामक रोग अधिनियम) के तहत दर्ज किया गया है। परुचुरी मल्लिक इतनी डरावनी बात कर रहे हैं तो वायरस बनाने में उनकी भूमिका होनी चाहिए। निर्देशक राम गोपाल वर्मा ने इस पर गंभीर प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने स्वास्थ्य निदेशक श्रीनिवास राव से सीधे सवाल पूछते हुए लगातार कई ट्वीट पोस्ट किये।

वर्मा ने सवाल किया, “माननीय जन स्वास्थ्य निदेशक जी आप केमिकल इंजीनियर परुचुरी मल्लिक के अपराध के बारे में बात कर रहे हैं। सार्वजनिक स्वास्थ्य निदेशक जी आप परुचुरी मल्लिक अपराधों के बारे में बात कर रहे हैं तो मुझे कुछ संदेह उत्पन्न हो रहे हैं। आप इस बात से कैसे इनकार कर सकते हैं कि तीसरी लहर के बारे में परुचुरी मलिक द्वारा कही गई टिप्पणी झूठी हैं? मल्लिक ने जो कहा वह तब ही झूठ साबित होगी जब वैसा नहीं होगा। क्या आप और आपके विशेषज्ञ दूसरी लहर के बारे में नहीं जानते थे?

यह भी पढ़ें :

“थर्ड वेव में हर परिवार में एक की मौत” डॉ मल्लिक के टिप्पणी से मचा हो हल्ला, स्वास्थ्य विभाग गंभीर, मामला दर्ज

वर्मा ने आगे कहा, “तीसरी लहर से पहले अगर परुचुरी मल्लिक गलत करार दे रहे हैं तो दूसरी लहर के बारे में आपने जो कहा वह भी गलत है। और आपके विशेषज्ञों के साथ क्या करना चाहिए? मीडिया में सैकड़ों विशेषज्ञ अपने विचार व्यक्त कर रहे हैं। मगर लोग मल्लिक के कमेंट्स को गंभीरता से देखा और सुना है। क्या यह आपके विशेषज्ञताओं की विफलता नहीं है?”

राम गोपाल ने आगे कहा, “मुख्यमंत्री केसीआर और वाईएस जगन मोहन रेड्डी के साथ भी क्या किया जाना चाहिए सर? केसीआर ने विधानसभा में कहा था तेलंगाना कोरोना कभी नहीं आएगा। जगन ने कहा था कि ब्लीचिंग पाउडर का छिड़काव किया जाए तो वायरस खत्म हो जाएगा। इनके साथ क्या करना चाहिए सर? इसके अलावा राज्य में अपर्याप्त ऑक्सीजन की आपूर्ति या बिस्तरों की कमी के कारण कई लोगों की मौत हो गई। इन गलतियों के लिए कौन सा कानून इस्तेमाल किया जाएगा सर?”

उन्होंने कहा, “मुझे नहीं पता कि परुचुरी मलिक सही है या नहीं। क्योंकि मैं विशेषज्ञ नहीं हूं। लेकिन सिर्फ मैं ही नहीं बल्कि सभी लोग उनकी बातों को ध्यान से सुन रहे हैं। क्योंकि सरकार जनकल्याण के विषय में विफल साबित हो गई है। इसीलिए परुचुरी मल्लिक की ओर लोग देख रहे हैं।

सर आप कम से कम मेरे कान में बताओ। सभी शीर्ष सरकारी अधिकारी यशोदा और अपोलो अस्पतालों में क्यों जा रहे हैं? गांधी अस्पताल क्यों नहीं जाते है? प्लीज बताओ सर। हमारी मां ने मुझसे कहा था कि मैं आपको बता दूं कि आप लोकतंत्र की ताकत का इस्तेमाल तभी करते हैं जब आप किसी सवाल का जवाब नहीं देते हैं। परुचुरी मलिक के टिप्पणियों की निंदा करने से पहले उनकी हर बात का योग्य तरीके से आपको जवाब देना होगा। आप मेरे खिलाफ भी प्राथमिकी दर्ज करने में बहुत व्यस्त नहीं हैं तो मुझे आशा है कि आप कम से कम मेरे कुछ सवालों का जवाब देंगे।”

आपको बता दें कि कुछ दिन पहले केमिकल इंजीनियर परुचुरी मल्लिक ने एक टीवी डिबेट में हिस्सा लिया था और कोरोना थर्ड वेव को लेकर गंभीर टिप्पणी की थी। उन्होंने कहा था कि तीसरी लहर सबसे भयावह होगी। वैक्सीन काम नहीं करेंगे और बच्चों पर इसका अधिक प्रभाव पड़ेगा। हर घर में एक व्यक्ति की मौत होगी। इस बात को लेकर जन स्वास्थ्य निदेशक परुचुरी मल्लिक पर भड़क उठे। यही आरजीवी के लिए नये सवालों की झड़ी लगाने के कारण बन गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Recent Posts

Recent Comments

Archives

Categories

Meta

'तेलंगाना समाचार' में आपके विज्ञापन के लिए संपर्क करें

X