दरिंदे ने प्रेम विवाह करने वाली सॉफ्टवेयर पत्नी की हत्या करने के बाद किया यह नाटक, फूटा ऐसे पाप का घड़ा

अमरावती: आंध्र प्रदेश में व्यक्ति ने प्रेम विवाह करने वाली पत्नी की पहले बेरहमी से हत्या कर दी। इसके बाद उसके शव को एक सुटकेस में बंद करके तिरुपति के रूया अस्पताल के पीछे ले गया और जला दिया। इसी क्रम में उसने रिश्तेदारों को बताया कि पत्नी को कोरोना हुआ है। अस्पताल में इलाज चल रहा है। इसके बाद बताया कि उसके पत्नी की डेल्टा प्लस वैरिएंट से मौत हो गई है। इतना ही नहीं, कोरोना से मौत हो जाने के कारण शव को भी उसे नहीं दिया गया। यह सुनकर परिजन भी उसके बात पर विश्वास कर बैठे। हालांकि पुलिस ने ड्राइवर द्वारा दी गई जानकारी और सीसीटीवी फुटेज के आधार पर मामले का पर्दाफाश किया।

तिरुपति अर्बन पुलिस के अनुसार, वाईएसआर कडपा जिले के बद्वेल के निवासी श्रीकांत रेड्डी ने चित्तूर जिले के पुंगनूर निर्वाचन क्षेत्र के रामसमुद्रम निवासी भुवनेश्वरी (27) के साथ ढाई साल पहले प्रेम विवाह किया था। उन्हें एक संतान भी है। भुवनेश्वरी हैदराबाद के एक प्रमुख कंपनी में सॉफ्टवेयर इंजीनियर के रूप में काम कर रही थी। इस समय अपने पति के साथ तिरुपति के एक अपार्टमेंट में कोरोना के कारण वर्कफ्रम होम कर रही थी। श्रीकांत रेड्डी बेरोजगार था और हमेशा पत्नी से पैसे के लिए झगड़ा करता था। इसके चलते उसने अपने परिचितों के पास से 10 लाख रुपये ले आई और पति को दी। हाल ही में कर्ज के चुकाने को लेकर दबाव बढ़ने लगा। कर्ज से छुटकारा पाने लिए उसने पत्नी की हत्या की योजना बनाई और उसकी बेहरमी से हत्या कर दी।

अलीपिरी पुलिस को इस महीने की 23 तारीख को तिरुपति रूया अस्पताल के पीछे जली हुई लाश मिली थी। सेलफोन कॉल के आधार पर पुलिस ने मृतक महिला की पहचान भुवनेश्वरी के रूप में की। पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज के आधार पर रूया अस्पताल आये ड्राइवर की पहचान की और उससे पूछताछ की है। पुलिस ने ड्राइवर द्वारा दी गई जानकारी के आधार पर पुष्टि की कि आरोपी श्रीकांत रेड्डी है।

ड्राइवर ने पुलिस को यह भी बताया कि श्रीकांत रेड्डी ने कार को वेबसाइट में बुक किया था। एक बड़ा सुटकेस लेकर आया और बताया कि उसकी पत्नी रूया अस्पताल में बड़ी डॉक्टर है। मगर इस समय वह कोरोना संक्रमित है। सुटकेस में वेंटिलेटर है। इसके बाद उसने ड्राइवर से कहा कि कार को रूया अस्पताल के पीछे झाड़ियों के पास रोक दें। कार रोकने बात उसने सुटकेस को कार में से उतार दिया। ड्राइवर के पूछने पर उसने बताया कि मेडम कोरोना संक्रमित है और वेंटिलेटर को यहां पर रख दिया गया तो वह आकर ले जाएगी।

पुलिस ने अपनी जांच में पाया कि श्रीकांत रेड्डी ने अपार्टमेंट में ही पत्नी की निर्मम हत्या कर दी और शव को सुटकेस में बंद किया तथा शव को कार में ले गया और रूया अस्पताल के पीछे जला दिया। सुटकेस को कार में लेकर आने के दृश्य अपार्टमेंट में लगे सीसीटीवी कैमरों में कैद हो गये। श्रीकांत रेड्डी द्वारा रिश्तेदारों के साथ खेला गया नाटक भी सामने आया कि डेल्टा वैरिएंट से उसके पत्नी की मौत हो गई। श्रीकांत ने रिश्तेदारों को बताया था कि उसकी पत्नी को कोरोना डेल्टा प्लस वैरिएंट से संक्रमित है और रूया अस्पताल में भर्ती थी और बाद में की मौत हो गई। इतना ही उसने रिश्तेदारों को रूया अस्पताल के मुर्दाघर में ले जाने और सभी शवों में भुवनेश्वरी की तलाश करने का भी नाटक किया। पुलिस मामला दर्ज कर फरार आरोपी श्रीकांत रेड्डी की तलाश कर रही है। दो पुलिस की टीमें हैदराबाद समेत अन्य जिलों में पूछताछ कर रही हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Recent Posts

Recent Comments

Archives

Categories

Meta

'तेलंगाना समाचार' में आपके विज्ञापन के लिए संपर्क करें

X