मूल्यवान धरोहर हैं : प्रोफेसर ऋषभदेव शर्मा की लेखकीय डायरी पर डॉ सुरभि दत्त की प्रतिक्रिया

'तेलंगाना समाचार' में 7 मई को प्रकाशित आदरणीय प्रोफेसर ऋष

Continue Reading

‘डायरी-अंश, समकाल में स्त्री : कुछ टिप्पणियां’ प्रो ऋषभदेव शर्मा के संकलन पर कहानीकार NR श्याम की प्रतिक्रिया

"युद्ध हो या दंगा, जीत का झंडा हमेशा औरत की योनि पर ही गड़ता

Continue Reading

डायरी-अंश, समकाल में स्त्री : कुछ टिप्पणियां

[‘स्त्री’ यों तो सदा से तमाम सभ्यताओं के केंद्र में रही ह

Continue Reading

सामयिक टिप्पणी: वे मारी जाती हैं क्योंकि वे औरतें हैं

संयुक्त राष्ट्र महासभा में हाल ही में पेश की गई एक रिपोर्

Continue Reading

सामयिक टिप्पणी: 29 नोबेल विजेताओं की मार्मिक अपील, वे सब ‘हमारे बच्चे’ हैं!

[नोट-हमास-इजरायल युद्ध एक भयानक मोड़ ले चुका है। इस युद्ध

Continue Reading

Recent Posts

Recent Comments

    Archives

    Categories

    Meta

    'तेलंगाना समाचार' में आपके विज्ञापन के लिए संपर्क करें

    X