वाईएस विवेकानंद रेड्डी की बेटी डॉ सुनीता ने एसपी को लिखा पत्र, बताया जान को खतरा, किया सुरक्षा आग्रह

अमरावती : सीबीआई पूर्व मंत्री और सांसद वाईएस विवेकानंद रेड्डी की हत्या की जांच कर रही है। अब तक अनेक लोगों को गिरफ्तार करके न्यायिक हिरास में भेज दिया है। हर दिन संधिग्द लोगों से पूछताछ कर रही है। पूर्व मंत्री वाईएस विवेकानंद रेड्डी मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी के चाचा है।

इसी बीच विवेकानंद रेड्डी की बेटी डॉ सुनीता रेड्डी ने कडपा जिला एसपी को एक पत्र लिखकर उनकी जान को खतरा बताया है। पत्र में पुलिवेंदुला में रह रहे उनके परिवार को सुरक्षा प्रदान करने का आग्रह किया है। सुनीता रेड्डी ने एसपी की अनुपस्थिति में कार्यालय के कर्मचारियों को पत्र सौंप दिया। सुनीता ने पत्र में कहा कि 10 अगस्त की शाम 5.10 बजे एक संदिग्ध व्यक्ति उनके मकान के आसपास घूमता पाया गया। साथ ही उसने बार-बार फोन भी किया है।

मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी और इनसेट में विवेकानंद रेड्डी

सुनीता ने पत्र में बताया कि वह विवेकानंद हत्याकांड के संदिग्ध शिवशंकर रेड्डी के जन्मदिन पर स्थापित फ्लेक्सी में दिखाई देने वाले मणिकांत रेड्डी की तरह दिखाई दे रहा था। उन्होंने कहा कि इस घटना के बारे में 12 अगस्त को सीआई भास्कर रेड्डी के पास शिकायत दर्ज कराई गई है। मैं अपने परिवार की सुरक्षा को लेकर चिंतित हूं। परिवार को सुरक्षा प्रदान किया जाये।

विवेकानंद रेड्डी की हत्या के बाद डॉ सुनीता रेड्डी ने 15 संदिग्धों के नाम अधिकारियों को सौंपे हैं। इनमें वाईसीपी के प्रदेश सचिव देवीरेड्डी शिवशंकर रेड्डी भी शामिल है। वह सांसद अविनाश रेड्डी के करीबी हैं।

आपको बता दें कि 14 मार्च 2019 आधी रात को विवेकानंद रेड्डी की उनके ही मकान में निर्मम हत्या कर दी गई थी। मगर मामले की सुनवाई आगे नहीं बढ़ रही थी। यह देख विवेकानंद रेड्डी की बेटी सुनीता रेड्डी ने हाईकोर्ट में याचिका दायर कर मामले को सीबीआई को सौंपने आग्रह किया। याचिका पर सुनवाई को बाद हाईकोर्ट ने 11 मार्च को मामले को सीबीआई को सौंपा। सीबीआई ने 18 जुलाई से मामले की जांच आरंभ कर दी। इस दौरान अधिकारियों ने लगभग 40 लोगों से पूछताछ की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

'तेलंगाना समाचार' में आपके विज्ञापन के लिए संपर्क करें

X