गुलाब: तेलंगाना में मूसलाधार बारिश, महानगर पानी-पानी, खम्मम में 15.1 सेमी वर्षा, विधानसभा स्थगित

हैदराबाद : ‘गुलाब’ तूफान के कारण तेलंगाना में मूसलाधार बारिश हो रही है। हैदराबाद के कई कॉलोनियां और निचले इलाके जलमग्न हो गये हैं। घरों में पानी घुस गया है। इसके चलते सार्वजनिक जीवन अस्त-व्यस्त हो गया। मौसम विभाग की चेतावनी के बाद सरकार ने मंगलवार को प्रदेश के सभी शैक्षणिक संस्थानों और सरकारी कार्यालयों में अवकाश घोषित किया है। मौसम विभाग चेतावनी दी है कि अगले एक-दो दिन भारी बारिश होने की संभावना है।

इसी क्रम में राजस्व, पुलिस, अग्निशमन, नगर पालिका, पंचायती राज, सिंचाई और आर एंड बी विभागों जैसी आपातकालीन सेवाओं को छुट्टी से छूट दी गई। मुख्यमंत्री केसीआर ने दिल्ली से संबंधित विभागों के अधिकारियों और कर्मचारियों को ड्यूटी पर रहने और भारी बारिश के कारण जान-माल के नुकसान को रोकने के निर्देश दिये हैं।

वहीं तेलंगाना विधानसभा और परिषद सत्र को तीन दिन के लिए स्थगित कर दिया गया है। अध्यक्ष पोचारम श्रीनिवास रेड्डी और मंडली प्रोटेम के अध्यक्ष भूपाल रेड्डी ने कहा कि संयुक्त बैठक 1 अक्टूबर को सुबह 10 बजे फिर से आरंभ होगी। विधायी सचिव नरसिंहाचार्युलू ने इस आशय का आदेश भी जारी किया।

पोचराम श्रीनिवास रेड्डी और भूपाल रेड्डी सोमवार को विधानसभा सत्र समापन के दौरान घोषणा की कि दोनों सदनों की बैठक मंगलवार को होगी। इसी बीच विधायकों और विधान परिषद के सदस्यों ने विधानसभा और परिषद के अध्यक्ष से राज्य में भारी बारिश बाढ़ को देखते हुए निर्वाचन क्षेत्रों के लोगों की मदद के लिए बैठकें स्थगित करने का आग्रह किया। इसके चलते उन्होंने सीएम केसीआर से संपर्क किया। मुख्यमंत्री की स्वीकृति मिलते ही संयुक्त बैठकें तीन दिनों के लिए स्थगित कर दी गई।

तेलंगाना सरकार ने निर्मल, निजामाबाद, कामारेड्डी, जगित्याल, राजन्ना सिरिसिल्ला, सिद्दिपेट, पेद्दपल्ली, करीमनगर, जनगाम, वरंगल, हनमकोंडा, महबूबाबाद, खम्मम, भद्रादी कोत्तागुडेम जिले में रेड अलर्ट जारी किया है। खम्मम में सर्वाधिक 15.1 सेमी और हैदराबाद में 11.1 सेमी बारिश हुई है। हैदराबाद शहर का जनजीवन अस्तव्यस्त हो गया है। शहर की लगभग सभी सड़कें नदी की तरह बह रही है। भारी ट्रैफिक जाम हो गया है। आसिफाबाद जिले के जैनूर मंडल के चिंतकर्र नदी में 30 लोग फंसे गये। इन्हें बड़ी मुश्किल से रस्सी की मदद से बाहर निकाला गया। मेदक जिले के येडुपायाल मंदिर बारिश के पानी से डूब गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

'तेलंगाना समाचार' में आपके विज्ञापन के लिए संपर्क करें

X