तेलंगाना में मजबूत पकड़ की ओर YS शर्मिला के कदम, 2023 चुनाव के लिए कर दी तगड़े उम्मीदवार की घोषण

हैदराबाद : वाईएसआर तेलंगाना पार्टी (YSRTP) की अध्यक्ष वाईएस शर्मिला तेलंगाना में अपनी पकड़ को मजबूत करते हुए आग बढ़ रही है। बेरोजगार युवकों को पार्टी की ओर आकर्षत करने में जुटी है।

इसी क्रम में हर मंगलवार को बेरोजगार युवकों को रोजगार की मांग के समर्थन में अनशन कर रही है। इस दौरान रिक्त 1.91 लाख पदों की भर्ती करने की सरकार से मांग कर रही है। इसके चलते लोगों में मुख्य रूप से युवकों में वाईएसआरटीसी के प्रति लोगों में विश्वास जाग रहा है।

इसी बीच वाईएस शर्मिला ने नलगोंडा जिले में रविवार को तुंगतुर्ती में आयोजित दलित भेरी में सभा में तेलंगाना के लोक गायक और पार्टी के नेता येपुरी सोमन्ना को तुंगतुर्ती विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र का उम्मीदवार घोषित किया है। साथ ही कहा कि साल 2023 में सोमन्ना चुनाव लड़ेंगे। इसके चलते 2023 में होने वाले आम चुनाव के लिए किसी पार्टी का तेलंगाना में सोमन्ना पहला उम्मीदवार हो गया है।

शर्मिला ने बताया कि सोमन्ना ने लोक गीतों के जरिए बताया है कि किसका तेलंगाना हो गया… तेलंगाना में राज कौन कर रहा है, जैसे गीत गाये हैं। सोमन्ना ने केसीआर सरकार बनने के छह महीने के भीतर ही केसीआर के सरकार पर कड़ी टिप्पणी है। ऐसे नेताओं को वाईएसआरटीपी प्राथमिकता देगी। सोमन्ना को उम्मीदवार के रूप में तुंगतुर्ती के लोगों के हाथों में सौंप रही हूं।

पार्टी सूत्रों ने बताया कि वाईएस शर्मिला तेलंगाना में राजनीतिक आंदोलन तेज कर दिया। बेरोजगारों के समर्थन अनशन के अलावा अब दलितों के अधिकार के समर्थन में आंदोलन करने का फैसला लिया है। तिरुमलगिरी सभा ही इसका उदाहरण है। अब शर्मिला वह हर हफ्ते जिलों का दौरा करेंगी और बताएगी कि दलित बंधु योजना धोखाधड़ी वाला है।

विश्लेषकों का मानना है कि वाईएस शर्मिला भी आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी कदमों पर चल रही है। वाईएस जगन ने विधानसभा चुनाव के दौरान जनसभा और पदयात्रा के दौरान दो उम्मीदवारों की घोषणा की थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

'तेलंगाना समाचार' में आपके विज्ञापन के लिए संपर्क करें

X