कोनासीमा जिले का ही नहीं देश का नाम डॉ बीआर अंबेडकर रखा जाना चाहिए: अभिनेता आर नारायण मूर्ति

हैदराबाद: निर्माता, निर्देशक और अभिनेता आर नारायण मूर्ति ने कहा कि आंध्र प्रदेश सरकार कोनासीमा जिले के नाम डॉ बीआर अंबेडकर रखती है तो हमले को अंजाम देना एक जघन्य कृत्य है। यदि कोई आपत्ति हो तो उसे शांतिपूर्ण ढंग से विरोध प्रदर्शन के जरिए जताई जा सकती है। नेताओं के घर जलाना और व्यक्तिगत हमले करना सही नहीं है।

अभिनेता ने जोर देकर कहा कि कोनासीमा जिले का नाम डॉ बी आर अंबेडकर रखा जाना बहुत अच्छी बात है। अंबेडकर का नाम सिर्फ जिले का नहीं, बल्कि देश के लिए रखा जाना चाहिए। देश का नाम अम्बेडकर भारत (इंडिया) के रूप में बदलना चाहिए। आर नारायणमूर्ति ने कडपा में आंध्र प्रदेश प्रजा नाट्य मंडली महासभा में यह बात कही।

उन्होंने आगे कहा कि केंद्र सरकार सब कुछ निजी और कॉर्पोरेट शक्तियों के हाथों में सौंप रही है। केंद्र सरकार का यह रवैया समाज के लिए घातक है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तिरुपति में विशेष दर्जे को लेकर दिये गये आश्वासन को भूल गये हैं।

अभिनेता ने कहा कि रायलसीमा नाम का मतलब गुटबाजी, हत्याएं, तलवारें, खंजर, राउडिज्म, दुश्मनी जैसे बातें कही जाती है वह असत्य है। रायलसीमा का मतलब प्यार और स्नेह का प्रतीक है। यहां के लोगों द्वारा दिखाए गये प्यार और स्नेह को कभी भुलाया नहीं जा सकता।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Recent Posts

Recent Comments

Archives

Categories

Meta

'तेलंगाना समाचार' में आपके विज्ञापन के लिए संपर्क करें

X