रेड्या नायक का दर्द सुनकर दंग रह गई मंत्री सत्यवती, दिया आश्वासन, पीड़ित के आंखों से झलके खुशी के आंसू

हैदराबाद : इलाज के लिए आलमारी में छिपाकर रखे दो लाख रुपये को चूहों ने काटकर टूकड़े-टूकड़े कर दिये। दिन-रात मेहनत करके जमा की गई रकम को टूकड़ों में देखकर रेड्या नायक का दिल भी टूट गया। उसकी दुख भरी दास्तां सुनकर तेलंगाना की महिला, बाल कल्याण और जनजातीय मामलों की मंत्री सत्यवती राठौर पीड़ित के साथ खड़ी हो गई। मंत्री ने रेड्या नायक को फोन किया और पैसे वापस दिलाने/करने का आश्वासन दिया। मंत्री ने रेड्या नायक से कहा कि पैसे खो जाने की चिंता मत करो। वह खुद ऑपरेशन के खर्च के लिए पैसे देगी। मंत्री के आश्वासन से उसके आंखों में आनंद के आंसू निकल आये।

आपको बता दें कि महबूबाबाद जिले के इंदिरानगर तांडा निवासी रेड्या नायक सब्जियों को बेचकर गुजारा कर रहा है। कुछ दिन पहले उसके पेट में ट्यूमर हो गया। डॉक्टरों के संपर्क करने पर सर्जरी करने का सुझाव दिया और ऑपरेशन के लिए चार लाख रुपये खर्च होने की बात बताई। उसने सब्जी बेचने से मिले 2 लाख और कर्ज लिये 2 लाख रुपये ऑलमारी में रख दिये। चार लाक रुपये जमा होने के कारण वह ऑपरेशन के लिए अस्पताल जाने को तैयार हो गया। मंगलवार को आलमरी खोलकर पूरी रकम निकाल लिया। अचानक कटे-फटे नोट देखकर चौक गया और फफक-फफकर रोने लगा। चूहों ने पूरे नोटों को काट डाले थे।

रेड्या नायक फटे-कटे नोट लेकर जिले के सभी बैंकों के चक्कर काटे। मगर किसी भी बैंक ने रकम बदलकर नहीं दिया। साथ ही हैदराबाद स्थित रिजर्व बैंक जाने का सुझाव दिया। वहां पर भी कटे-फटे बदलने की उम्मीद कम होने से फफक-फफकर रोने लगा और लोगों से मदद करने का आग्रह किया।

यह भी पढ़ें :

एक वृद्ध की वेदना: चूहों ने काट डाले ऑपरेशन के लिए आलमारी में रखे दो लाख रुपये के नोट

इस घटना के बारे में टीवी के साथ-साथ विभिन्न अखबारों और डिजिटल मीडिया में खबरें प्रकाशित और प्रसारित हुई। यह मामला मंत्री सत्यवती राठौर के संज्ञान में गया। रेड्या नायक की दर्द भरी कहानी सुनकर वह दंग रह गई। मंत्री ने उसे फोन करके हिम्मत दी। उन्होंने अधिकारियों से बात करके पैसे वापस दिलाने का आश्वासन दिया। इतना ही नहीं आश्वासन दिया कि वह जहां चाहें वहां बेहतर इलाज कराएगी। साथ ही इससे पहले किये गये इलाज का खर्च को मुख्यमंत्री राहत कोष से दिया जाएगा। मंत्री सत्यवती राठौर के आदेश पर महबूबाबाद के तहसीलदार रंजीत रेड्डा नायक पास गये और कटे-फटे नोटों का मुआयना किया और पंचनामा किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

'तेलंगाना समाचार' में आपके विज्ञापन के लिए संपर्क करें

X