Tokyo Olympics-2020: भारत के इन खिलाड़ियों ने किया देश का नाम रोशन

हैदराबाद : टोक्यो ओलंपिक-2020 में भारत ने एक स्वर्ण, दो रजत और चार कांस्य पदकों के साथ अब तक के ओलंपिक का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया। रविवार यानी 8 अगस्त को टोक्यो ओलंपिक का समापन हो गया। टोक्यो में भारत ने एथलेटिक्स (स्वर्ण), वेटलिफ़्टिंग (रजत), कुश्ती (एक रजत, एक कांस्य), हॉकी (कांस्य), बैडमिंटन (कांस्य) और बॉक्सिंग (कांस्य) में पदक जीते हैं। गौरतलब है कि भारत ने लंदन ओलंपिक-2012 में सबसे अधिक 6 पदक हासिल किये थे।

टीम इंजिया ने 13 साल बाद टोक्यो ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीता है। उन्होंने 87.58 मीटर जैबलिन थ्रो (भाला फेंक) के साथ भारत की खाते में स्वर्ण पदक जोड़ा है। नीरज चोपड़ा पहली बार ओलंपिक खेलों में भाग लिया है। नीरज ने इसी साल इंडियन ग्रॉ प्री-3 में 88.07 मीटर जैवलिन थ्रो के साथ अपना ही राष्ट्रीय रिकॉर्ड तोड़ा था। जून के महीने में पुर्तगाल के लिस्बन शहर में हुए मीटिंग सिडडे डी लिस्बोआ टूर्नामेंट में उन्होंने स्वर्ण पदक अपने नाम किया था। अब नीरज ने 90 मीटर जैबलिन थ्रो करने को अपना लक्ष्य बनाया है।

नीरज चोपड़ा की इस जीत पर बिंद्रा ने स्वर्ण पदक क्लब में उनका स्वागत किया और बहुत कम अंतर से एथलेटिक्स में ओलंपिक पदक से चूकीं उड़न परी के नाम से मशहूर पीटी ऊषा ने भी उन्हें बधाई दी है। साथ ही नीरज को पाकिस्तान से भी बधाइयों के संदेश मिले है। स्वर्ण पदक जीतने के बाद नीरज पर इनामों की बारिश हो रही है। हरियाणा, पंजाब, मणिपुर की सरकार और बीसीसीआई, चेन्नई सुपर किंग्स ने उन्हें नक़द पुरस्कार देने का एलान किया है।

टोक्यो ओलंपिक-25020 में भारत के पदकों का खाता पहले दिन ही मीराबाई चानू ने रजत पदक के साथ खोल दिया। उन्होंने भारोत्तोलन के 49 किलोवर्ग में कुल 202 किलो (87 किलो + 115 किलो) भार उठा कर भारत के लिए इस प्रतिस्पर्धा में 21 साल बाद ओलंपिक पदक हासिल किया है सिडनी ओलंपिक-2000 के 69 किलो भारोत्तोलन में कर्णम मल्लेश्वरी ने भारत के लिए कांस्य पदक जीता था।

महिला बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु ने टोक्यो में भारत को दूसरा पदक दिलाया। सिंधु ने रियो ओलंपिक में भी रजत पदक जीता था।
टोक्यो में कांस्य पदक जीतकर वे (पहली महिला) दूसरी ऐसे खिलाड़ी बन गईं, जिन्होंने व्यक्तिगत प्रतिस्पर्धा में दो ओलंपिक पदक हासिल किए हैं। सुशील कुमार ने कुश्ती में बीजिंग ओलंपिक 2008 में कांस्य और लंदन ओलंपिक 2012 में रजत पदक हासिल किए थे।

बॉक्सर लवलीना बोरगोहाईं ने टोक्यो ओलंपिक में यादगार प्रदर्शन करते हुए कांस्य पदक अपने नाम किया। लवलीना 69 किलो वेल्टरवेट कैटिगरी के सेमीफ़ाइनल में तुर्की की वर्ल्ड नंबर-1 बॉक्सर बुसेनाज सुरमेनेली से हार गई थीं। उन्हें कांस्य पदक मिला है।
भारत को 9 साल के बाद ओलंपिक बॉक्सिंग में पदक हासिल हुआ। असम के गोलाघाट ज़िले की लवलीना बॉक्सिंग में ओलंपिक पदक हासिल करने वाली तीसरी भारतीय खिलाड़ी हैं। उनसे पहले विजेंदर सिंह ने 2008 बीजिंग ओलंपिक और मेरी कॉम ने 2012 लंदन ओलंपिक में भारत के लिए बॉक्सिंग में कांस्य पदक हासिल किए थे।

भारत को टोक्यो ओलंपिक में दूसरा रजत पदक रवि दहिया ने दिलाया है। रवि 57 किलोवर्ग फ़्री स्टाइल कुश्ती के फ़ाइनल में दूसरी वरीयता प्राप्त रूसी ओलंपिक समिति के पहलवान जावुर युगुऐव से 4-7 से मात खा गए थे और उन्हें रजत से संतोष करना पड़ा था। रवि कुमार दहिया ओलंपिक में रजत पदक हासिल करने वाले दूसरे पहलवान हैं। उनसे पहले सुशील कुमार ने 2012 के लंदन ओलंपिक में पदक जीता था।

ओलंपिक चैंपियन भारतीय हॉकी टीम के लिए टोक्यो ओलंपिक बड़ी सफलता लेकर आया है। भारतीय टीम लंबे अरसे के बाद ओलंपिक हॉकी के सेमीफ़ाइनल में पहुंची और वर्ल्ड नंबर-1 और टोक्यो में चैंपियन बनी बेल्जियम को कड़ी टक्कर देने के बाद हार गई। लेकिन जब मुक़ाबला कांस्य पदक के लिए हुआ तो भारतीय टीम ने अपनी रफ़्तार से जर्मनी जैसी मज़बूत टीम को मात दी। कांस्य पदक जीतने के साथ ही भारत का 41 सालों से ओलंपिक हॉकी में पदक का सूनापन ख़त्म कर दिया। अब ओलंपिक हॉकी में भारत के आठ स्वर्ण, एक रजत और तीन कांस्य पदकों समेत 12 मेडल हो गये हैं। यह टोक्यो में भारत का पांचवा पदक रहा है।

भारत की महिला हॉकी टीम ने भी टोक्यो में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया। भारतीय महिला हॉकी टीम पहली बार ओलंपिक खेलों के सेमीफ़ाइनल में पहुंची। हालांकि भारतीय टीम पदक जीतने से चूक गई और चौथे स्थान पर रही। लेकिन महिला हॉकी के प्रदर्शन की देश विदेश में बहुत सराहना की गई है।

नीरज चोपड़ा की तरह ही बजरंग पूनिया का यह पहला ओलंपिक था और वे 65 किलोवर्ग फ़्री स्टाइल कुश्ती के सेमीफ़ाइनल में भले ही हार गये। लेकिन कांस्य पदक के मुक़ाबले में उन्होंने कज़ाख़स्तान के दौलेत नियाज़बेकोव को कोई मौक़ा नहीं दिया और 8-0 से हराकर उन्होंने पदक हासिल किया। यह टोक्यो ओलंपिक के समाप्त होने से ठीक एक दिन पहले भारत का छठा मेडल मिला था। (एजेंसियां)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

'तेलंगाना समाचार' में आपके विज्ञापन के लिए संपर्क करें

X