जल जंग : नागार्जुन सागर के पास पुलिस का कड़ा बंदोबस्त, गेट के पास कांटेदार तार की बाड़

हैदराबाद : नलगोंडा जिले के नागार्जुन सागर जलाशय और तेलंगाना बिजली संयंत्र के पास तीसरे दिन भी पुलिस का कड़ा बंदोबस्त जारी है। तेलंगाना पुलिस ने जेनको स्टाफ को छोड़कर किसी को भी पावर प्लांट में जाने की अनुमति नहीं दे रही है। कड़ी सुरक्षा के बीच बिजली का उत्पादन जारी है।

दूसरी ओर जेनको के अधिकारियों ने बताया कि सागर हाइड्रोइलेक्ट्रिक पावर स्टेशन छह इकाइयों में 660 मेगावाट बिजली का उत्पादन किया जा रहा है। आंध्र प्रदेश प्रदेश-तेलंगाना सीमा पर चेक पोस्ट स्थापित किया गया है। प्रोजेक्ट गेट के पास कांटेदार तार की बाड़ लगाई गई है।

इसी क्रम में मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी ने प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी से कृष्णा जल को लेकर तेलुगु राज्यों के बीच उठे विवाद में तुरंत हस्तक्षेप करने और इस मुद्दे को हल निकालने की अपील की है। साथ ही कहा कि कृष्णा बोर्ड की अनुमति के बिना तेलंगाना सरकार की ओर से किये जा रहे बिजली उत्पादन को नियंत्रित किया जाये।

उन्होंने प्रधानमंत्री से यह भी आग्रह किया कि तेलंगाना सरकार अवैध रूप से इस्तेमाल किये जा रहे पानी को उनका हिस्सा (कोटा) समझा जाये। साथ ही तुरंत कृष्णा बोर्ड के दायरे को अंतिम रूप दें और संयुक्त परियोजनाओं के रक्षा के लिए सीआईएसएफ बलों के साथ सुरक्षा प्रदान किया जाये। सीएम वाईएस जगन ने गुरुवार को प्रधानमंत्री और केंद्रीय जल ऊर्जा मंत्री गजेंद्रसिंह शेखावत को एक पत्र लिखा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

'तेलंगाना समाचार' में आपके विज्ञापन के लिए संपर्क करें

X